May 22, 2024

न्यू यॉर्क से दिल्ली आ रही एयर इंडिया की फ्लाइट में महिला पर से पेशाब करने वाले शंकर मिश्रा को पुलिस गिरफ्तार करके दिल्ली ले आई है

पिछले साल 26 नवंबर को महिला के साथ यह घटना हुई थी वहीं आरोपी के पिता इस घटना को लेकर लगातार सवाल उठा रहे हैं वह बेटे की अग्रिम जमानत के लिए कोर्ट जा सकते हैं

एयर इंडिया की फ्लाइट में महिला पर पेशाब करने वाले आरोपी शंकर मिश्रा को बेंगलुरु से गिरफ्तार कर लिया गया है उन्हें दिल्ली भी लाया जा चुका है. इस मामले में उनकी 42 दिन बार गिरफ्तारी हुई है. वह लंबे समय से फरार चल रहे थे पुलिस जांच में सहयोग न करने के कारण उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी कर दिया गया था. वहीं 26 नवंबर को फ्लाइट में हुई घटना के एक चश्मदीद डॉ. सौगत भट्टाच…समाने आए हैं उन्होंने इस मामले में आजतक से खुलकर बात की. उन्होंने घटना को लेकर जो बातें बताईं वह बेहद चौंकाने वाली हैं. उनके मुताबिक उस दिन शंकर मिश्रा बुरी तरह नशे में थे. इसके अलावा इस पूरे मामले में एयर इंडिया के स्टाफ ने घोर लापरवाही की. उन्होंने मामले को गंभीरता से… से नहीं लिया और पीड़ित महिला को तत्काल जो राहत मिलनी चाहिए थी, वह भी नहीं दी गई. आइए जानते हैं घटना के चश्मदीद ने उस दिन फ्लाइट में क्या देखा-सुना-

फ्लाइट ने करीब साढ़े 12 बजे टेक ऑफ किया. मैं 8 अल्फा में बैठा हुआ था और शंकर मिश्रा 8 चार्ली पर बैठा हुआ था. करीब एक घंटे बाद लंच सर्व किया गया तो मैं लंच सेशन में देखा कि उन्होंने व्हिस्की की चार ड्रिंक्स पी लीं. इस दौरान को पैसेंजर के तौर पर मेरी उनसे बात हो रही थी.उन्होंने मुझसे एक ही बात कई बार पूछी. जैसे- उन्होंने मुझसे तीन बार पूछा कि आपके कितने बच्चे हैं. लंच खत्म होने के बाद मैंने क्रू मेंबर को बताया कि

शंकर मिश्रा ने ज्यादा शराब पी ली है, आप लोग ध्यान रखिएगा, उन्हें और शराब पीने को ना दीजिएगा. 

इसके बाद मैं वापस आकर बैठ गया.कुछ देर बाद एक आवाज आई. मैंने देखा कि मिश्रा अपनी सीट पर गिर गए हैं और वह सो रहे हैं.इसके बाद मैं रेस्टरूम यूज करने के लिए गैलरी की तरफ चला गया. थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि एक महिला गैलरी की तरफ आ रही हैं. उनकी पूरी बॉडी में पानी जैसा कुछ लगा हुआ था.उस समय वह बहुत डरी हुई थीं. हालांकि उन्होंने बिना शोर मचाए शिकायत की कि एक पैसेंजर ने उनके ऊपर आकर पेशाब कर दी यह सुनकर हम सभी चौंक गए. इसके बाद फ्लाइट की जूनियर मोस्ट स्टाफ रेबेका और रूबिका उन्हें तुरंत साफ किया. हालांकि इस दौरान मिश्रा सोते रहे. वह करीब दो-ढाई घंटे बाद वह जागे. 

मेरी जो शिकायत की थी वह थी कि घटना के करीब 3 घंटे बीत जाने के बाद उस बुजुर्ग महिला को दूसरी सीट नहीं दी गई,

जबकि चार फर्स्ट क्लास की सीटें खाली थीं. मेरे कई बार कहने के बाद उन्होंने महिला को सीट नहीं दी.उन्होंने महिला को पहले गैलरी वाली सीट पर बैठाकर रखा, उसके बाद जिस सीट पर शंकर मिश्रा ने पेशाब की थी, उसी सीट पर कंबल डालकर उन्हें बैठा दिया.मैंने उनसे पूछा कि उन्हें शिफ्ट क्यों नहीं किया जा रहा तो मुझे बताया गया कि हम पाइलट इन कमांड की इजाजत के बिना उनको फर्स्ट् क्लास में शिफ्ट नहीं कर सक…इसके बाद जब उनके एक क्रू मेंबर की सीट खाली हुई, तब उन्हें सीट दी गई.

शंकर मिश्रा ने जो किया वह IPC के तहत अपराध है और अपराध की शिकायत की जानी चाहिए लेकिन क्रू ने ऐसा नहीं किया. जबकि सीनियर स्टाफ ने दोनों लोगों को आमने-सामने बैठा दिया और कहा दिया कि आप लोग सुलह कर लीजिए. मुझे लगता है कि उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था.’ 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *