June 21, 2024

2 करोड़ की घूस मामले में दिव्या मित्तल पर एक्शन, हुईं सस्पेंड

दो करोड़ रुपये की घूसखोरी के आरोप में गिरफ्तार एएसपी ने दिव्या मित्तल को सस्पेंड कर दिया गया है. सरकार ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है. दिव्या की गिरफ्तारी के बाद पुलिस उनके फार्म हाउस और रिजॉर्ट से भारी मात्रा में शराब बरामद थी. बताया जाता है कि ये शराब वहां आए स्पेशल गेस्ट को परोसी जाती थी.

राजस्थान में दो करोड़ रुपये की घूसखोरी के आरोप में गिरफ्तार एएसपी (स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप) दिव्या मित्तल को सस्पेंड कर दिया गया है. इस बाबत राज्य सरकार ने निलंबन आदेश जारी कर दिया है. गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने उदयपुर के पास चिकलवास में उनके फार्म हाउस और रिजॉर्ट नेचर हिल से भारी मात्रा में शराब बरामद की थी. ये शराब वहां आए स्पेशल गेस्ट को परोसी जाती थी.

रिपोर्ट के मुताबिक इस रिजॉर्ट का संचालन उदयपुर पुलिस से बर्खास्त पुलिसकर्मी सुमित कुमार कर रहा था जो रिश्वत मामले में दलाल भी है. अंबामाता पुलिस ने सुमित और दिव्या मित्तल के खिलाफ आबकारी अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज किया है.

पुलिस ने एएसपी दिव्या मित्तल के रिजॉर्ट से 27 बोतल बियर समेत बड़ी मात्रा में शराब बरामद की थी. बताया जा रहा है कि रिजॉर्ट में शराब बेचने का कोई लाइसेंस संचालक की तरफ नहीं लिया गया था. यह अवैध रूप से रिजॉर्ट में रखकर आने वाले पर्यटकों को परोसी जाती थी.

ये भी कहा जा रहा है कि इस रिजॉर्ट में एसओजी एएसपी दिव्या मित्तल के कहने पर मादक पदार्थ तस्करी मामले में दलाल सुमित कुमार ने आरोपी को बुलाकर और डरा-धमका कर 2 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगी थी. इससे पहले इसी दलाल ने दिव्या मित्तल के लिए 25 लाख रुपए की पहली किस्त मांगी थी जिसे वह अजमेर जाकर दिव्या मित्तल को देने वाला था.

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने किया था गिरफ्तार

रिश्वत के मामले में ये कार्रवाई राजस्थान के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) की जयपुर टीम ने की थी. इसमें दिव्या मित्तल को गिरफ्तार किया गया था. एसीबी ने दिव्या को अजमेर स्थित उनके निजी आवास पर तलाशी लेने के बाद गिरफ्तार किया था.

ड्रग माफियाओं को पकड़ने यह इनाम मिला

खुद पर हुई कार्रवाई को लेकर दिव्या ने कहा था कि ड्रग माफियाओं को पकड़ने का उन्हें यह इनाम मिला है. यही नहीं, दिव्या ने अजमेर के पुलिस अधिकारियों को भी ड्रग मामले में शामिल बताया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *