November 30, 2023

AMRITPAL IN DELHI ; दिल्ली में बिना पगड़ी, काला चश्मा और जैकेट के घूमता नजर आया भगोड़ा अमृतपाल.

दिल्ली के मधु विहार इलाके से एक तस्वीर सामने आई है, जिसमें अमृतपाल नए लुक में नजर आ रहे हैं। वीडियो 21 मार्च का बताया जा रहा है. तस्वीरों में खालिस्तानी नेता अमृतपाल का लुक बिल्कुल अलग है.

बाल छोटे कटवाए, पगड़ी उतारकर नए रूप में घूम रहा है। अमृतपाल ने अपने आधे बाल कटवा लिए हैं और अपना लुक पूरी तरह से बदल लिया है।

पंजाब से भगोड़ा घोषित अमृतपाल अभी तक पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया है। आए दिन उनकी अलग-अलग तस्वीरें आ रही हैं। ऐसी ही एक तस्वीर दिल्ली के मधु विहार इलाके से सामने आई है, जिसमें अमृतपाल नए लुक में नजर आ रहे हैं। वीडियो 21 मार्च का बताया जा रहा है।
तस्वीरों में देखा जा सकता है कि खालिस्तानी नेता अमृतपाल नए-नए रूप में बाल कटवाकर और पगड़ी उतारकर घूम रहा है. अमृतपाल ने अपने आधे बाल कटवा लिए हैं और अपना लुक पूरी तरह से बदल लिया है। इसके अलावा अमृतपाल को लेकर शुरू से ही फरार उसका दोस्त पापलप्रीत भी नजर आया है।

पगड़ी के साथ तस्वीर भी सामने आ सकती है

इसके अलावा बीते दिन यानी सोमवार को अमृतपाल की एक और तस्वीर वायरल हुई। अमृतपाल और उसके फरार साथी पप्पलप्रीत सिंह की एक सेल्फी सामने आई थी। सेल्फी में अमृतपाल के हाथ में ड्रिंक की कैन है। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि यह सेल्फी कहां ली गई थी। लेकिन, पंजाब में सोशल मीडिया पर यह काफी तेजी से वायरल हुआ। वायरल फोटो को देखकर लग रहा है कि अमृतपाल को कोई डर या टेंशन नहीं है. वह आराम से मैरून पगड़ी, काला चश्मा लगाए, गले में मास्क लगाए बैठे हैं।

पुलिस अमृतपाल को पकड़ने की कोशिश कर रही है

इस मामले को लेकर पंजाब सरकार ने मंगलवार को हाईकोर्ट को बताया कि वे कई एजेंसियों के साथ समन्वय कर रहे हैं और खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह को गिरफ्तार करने के करीब हैं. आपको बता दें कि सरकार द्वारा कट्टरपंथी नेता को भगोड़ा घोषित किया जा चुका है, वह 18 मार्च को उसके और उसके संगठन ‘वारिस पंजाब डे’ पर पुलिस द्वारा शुरू की गई कार्रवाई के बाद से फरार है.

हालांकि पंजाब पुलिस ने कार्रवाई के दौरान उसके कई साथियों को हिरासत में लिया है। इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा है कि उन्होंने पुलिस महानिदेशक से उन लोगों को एहतियातन हिरासत से रिहा करने को कहा है जो किसी देश विरोधी गतिविधि में शामिल नहीं पाए गए हैं. हालांकि, उन्होंने यह भी कहा है कि राज्य में शांति भंग करने की कोशिश करने वाले किसी भी व्यक्ति के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पुलिस हिरासत में था अमृतपाल?

मंगलवार को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय वकील इमान सिंह खारा द्वारा दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर सुनवाई कर रहा था, जिसमें दावा किया गया था कि अमृतपाल सिंह पुलिस की “अवैध हिरासत” में थे। पंजाब के महाधिवक्ता विनोद घई ने अदालत को बताया कि अमृतपाल सिंह को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया है और वे उसे पकड़ने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

इस मामले पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट के जज एनएस शेखावत ने याचिकाकर्ता से सबूत पेश करने के लिए हलफनामा दाखिल करने को कहा है. इस सवाल का जवाब हलफनामे में पूछा गया है कि अमृतपाल सिंह पुलिस हिरासत में थे और राज्य सरकार के आदेश पर उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया था. कोर्ट ने मामले में सुनवाई की अगली तारीख 29 मार्च तय की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *