May 22, 2024

Bahubali Mukhtar’s daughter-in-law Arrested निजी गाड़ी और सादे कपड़े…आईपीएस वृंदा शुक्ला द्वारा

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के बेटे-बहू पर कार्रवाई को लेकर आईपीएस वृंदा शुक्ला सुर्खियों में हैं। चित्रकूट एसपी ने जेल में बंद विधायक अब्बास अंसारी की पत्नी निकहत बानो को गिरफ्तार कर लिया है. निखत रोज अपने पति से मिलने जेलर के अलग कमरे में नियम के खिलाफ जाती थी।

वृंदा शुक्ला (वृंदा शुक्ला)। इंटरनेट पर पिछले कुछ घंटों में इस नाम की खूब चर्चा हो रही है. किसी ने उनके इस साहसिक कार्य की तारीफ की है तो कोई उनके बातचीत के लहजे की तारीफ कर रहा है. दरअसल वृंदा शुक्ला कोई आम शख्सियत नहीं है, बल्कि उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के पुलिस कप्तान का नाम है. भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) की महिला अधिकारी हाल ही में बाहुबली माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के परिवार के खिलाफ कार्रवाई कर सुर्खियों में आई हैं। इस एसपी ने मुख्तार के जेल में बंद विधायक बेटे अब्बास की पत्नी निखत बानो को गिरफ्तार किया है. निखत रोज नियमों के खिलाफ जाकर जेलर के कमरे में अपने पति से मिलने जाती थी।

पुलिस अधीक्षक वृंदा शुक्ला चित्रकूट जिले के जिलाधिकारी अभिषेक आनंद के साथ अचानक जेल पहुंच गई थीं. छापेमारी के दौरान महिला आईपीएस अधिकारी ने वर्दी की जगह सादे कपड़े पहन रखे थे. इतना ही नहीं औचक निरीक्षण की भनक किसी को न लग जाए इसलिए वह निजी वाहन से जिला कारागार पहुंची।

इस मामले में एसपी वृंदा शुक्ला का कहना है, ”पिछले कुछ दिनों से जेल में अवैध गतिविधियां चल रही थीं. बाहर से आए लोग अनाधिकृत रूप से कैदियों से मिल रहे थे. इस सूचना के आधार पर मैंने जिलाधिकारी के साथ औचक निरीक्षण किया. जेल और जेल के सभी संवेदनशील बैरकों की तलाशी ली गई। जहां पता चला कि अब्बास अंसार अपने बैरक में मौजूद नहीं है। जेल कर्मचारियों से पूछताछ करने पर पता चला कि अब्बास को निजी मुलाकातों की इजाजत दी गई है। उसकी पत्नी को बनाया गया है। जेल कार्यालय के एक कमरे में उससे मिलने के लिए, वहीं अब्बास और उसकी पत्नी के बीच हुई मुलाकात का ब्योरा रजिस्टर में दर्ज नहीं है.

इसी क्रम में जब हमने उस कमरे में जाकर देखा तो उसकी (अब्बास अंसारी की) पत्नी निकहत मौजूद मिली और उसके पास से मोबाइल फोन बरामद हुए. जो जेल के नियमों के खिलाफ है। इस आधार पर हमने गृह एवं कारागार विभाग को संयुक्त रिपोर्ट भेजी थी। अब इस मामले में स्वतंत्र जांच की जा रही है. साथ ही अब्बास अंसारी से मिलने वाले लोगों समेत जेल कर्मियों के खिलाफ भी संबंधित धाराओं में केस दर्ज किया गया है.

बता दें कि वृंदा शुक्ला की किसी जिले में पुलिस अधीक्षक (एसपी) के तौर पर यह पहली पोस्टिंग है। खूबसूरती में ऊंचे पद पर विराजमान यह महिला पुलिस अधिकारी आम लोगों के लिए सहज और सरल मानी जाती है, वहीं अपराधियों के प्रति वह ज्यादा सख्त है। धाराप्रवाह अंग्रेजी और हिंदी में बात करने वाले इस आईपीएस अधिकारी का लहजा पीड़ितों के लिए उतना ही नरम है जितना कि बदमाशों के लिए।

वृंदा शुक्ला 2014 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं।
आईपीएस वृंदा शुक्ला अपने कर्तव्य के अलावा महिलाओं, बच्चों और पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए भी सक्रिय रहती हैं। समसामयिक मुद्दों पर उनके लेख समाचार पत्रों और डिजिटल मीडिया मंचों पर प्रकाशित होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *