April 15, 2024

INCOME TAX RAID ON BBC OFFICE पत्रकारों को काम करने की इजाजत

बीबीसी के दफ्तर पर आयकर विभाग का छापा कंपनी ने इस छापेमारी पर बयान जारी किया है। बीबीसी ने कहा कि आयकर विभाग की टीम अभी कार्यालय में मौजूद है और हमारी तरफ से पूरा सहयोग किया जा रहा है. हमें उम्मीद है कि इस मामले को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा।

बीबीसी के दिल्ली और मुंबई स्थित दफ्तरों पर आयकर विभाग का छापा. मंगलवार सुबह कंपनी के दोनों दफ्तरों पर आयकर विभाग ने छापा मारा। आयकर विभाग ने इंटरनेशनल टैक्स में अनियमितता को लेकर जांच शुरू कर दी है। इस कार्रवाई पर कंपनी की ओर से पहला बयान सामने आया है। बीबीसी ने सिर्फ इतना कहा है कि वो जांच में पूरा सहयोग कर रहा है. उन्हें उम्मीद है कि यह मामला जल्द से जल्द सुलझ जाएगा।

बीबीसी के दफ्तरों पर छापा, विपक्षी हमलावर

बीबीसी ने कहा कि आयकर विभाग की टीम अभी कार्यालय में मौजूद है और हमारी तरफ से पूरा सहयोग किया जा रहा है. हमें उम्मीद है कि इस मामले को जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा। आयकर विभाग इस पूरी कार्रवाई को टैक्स अनियमितताओं से जोड़ रहा है, हालांकि इस समय बीबीसी अपने गुजरात दंगों के डॉक्युमेंट्री की वजह से भी विवादों में चल रहा है. इस छापेमारी की टाइमिंग को लेकर विपक्ष भी सवाल उठा रहा है.

कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा है कि पहले बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री आई थी, उसे बैन कर दिया गया था. अब आईटी ने बीबीसी पर छापा मारा है। अघोषित आपातकाल। वहीं कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा कि हम अडानी मामले में जेपीसी की मांग कर रहे हैं, दूसरी तरफ बीबीसी कार्यालय में इस तरह की कार्रवाई की जा रही है. विनाश काल के विपरीत बुद्धि।

बीजेपी ने कहा- ये भ्रष्ट संस्था है

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इसे वैचारिक आपातकाल बताया है तो विपक्ष के अन्य नेता भी इसे प्रेस की आजादी पर सरकार का निशाना मान रहे हैं. इस विवाद पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम फारूक अब्दुल्ला ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। लोकतंत्र खतरे में है, मीडिया को दबाया जा रहा है. अब विपक्ष का यही रुख है, लेकिन बीजेपी ने बीबीसी की ही विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा कर दिया है. उन्हें सबसे भ्रष्ट कंपनी भी बताया गया है। बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि बीबीसी का प्रोपेगैंडा और कांग्रेस का एजेंडा साथ-साथ काम कर रहा है. बीबीसी का इतिहास भारत को कलंकित करता रहा है। इंदिरा गांधी ने बीबीसी पर बैन लगा दिया था. बीबीसी ने अपनी रिपोर्टिंग के दौरान कश्मीर में आतंकी को करिश्माई युवा उग्रवादी बताया था. बीबीसी ने भी होली के त्योहार पर टिप्पणी की. इतना ही नहीं बीबीसी ने महात्मा गांधी पर भी प्रतिकूल टिप्पणियां कीं। ये उदाहरण बहुत महत्वपूर्ण हैं।

एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया के तीखे सवाल

इन्हीं दलीलों के बीच एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया की ओर से इस कार्रवाई पर कुछ तीखे सवाल खड़े किए गए हैं. यह दावा किया गया है कि यह एक चलन बन गया है कि उन मीडिया घरानों को निशाना बनाया जा रहा है जो सरकार के खिलाफ बोलते हैं, उसकी नीतियों की आलोचना करते हैं। इससे पहले न्यूज क्लिक और न्यूज लॉन्ड्री के कार्यालयों पर भी इसी तरह की छापेमारी की जा चुकी है। एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने इसे जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करार दिया है। गिल्ड ने सरकार से अपील की है कि हर हाल में मीडिया की आजादी का ख्याल रखा जाए, जांच दायरे में रहकर ही की जाए.

अब इसी बयानबाजी के बीच बीबीसी के दफ्तर पर इस वक्त भी इनकम टैक्स की छापेमारी जारी है. खबर के मुताबिक सभी कर्मचारियों को घर भेज दिया गया है. उन्हें सुबह ही जाने को कह दिया गया था, तभी से जांच एजेंसी द्वारा लगातार पूछताछ की जा रही है. सुबह की पाली में काम करने वालों को उनके फोन वापस कर दिए गए हैं, जबकि शाम की पाली में काम करने वालों को अब काम करने की अनुमति दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *