May 22, 2024

OMEGA 3 की कमी: आपके शरीर में भी दिखाई देते हैं ये लक्षण, कहीं ओमेगा-3 की कमी के लक्षण तो नहीं?

ओमेगा -3 फैटी एसिड कुछ आवश्यक पोषक तत्वों में से एक है जिसकी हमारे शरीर को बहुत आवश्यकता होती है। यह हमारे स्वास्थ्य के साथ-साथ त्वचा और मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है।

जब हमारे शरीर को पर्याप्त मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड नहीं मिलता है तो इसकी कमी से हमें कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है। शरीर में ओमेगा-3 की कमी होने पर दिखते हैं ये संकेत हमारे शरीर को स्वस्थ रहने के लिए कई तरह के विटामिन और पोषक तत्वों की जरूरत होती है, जिनमें से एक है ओमेगा-3 फैटी एसिड।

ओमेगा-3 फैटी एसिड हमारी त्वचा, दिमाग और इम्यून सिस्टम के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड सभी प्रकार की मछलियों में पाया जाता है। लेकिन शाकाहारी लोगों के लिए भी कई ऐसी चीजें हैं जो ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होती हैं। खुद को आंतरिक रूप से फिट रखने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी से कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ता है। आज हम आपको शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी से होने वाली बीमारियों के लक्षणों के बारे में बताने जा रहे हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में-

शरीर में ओमेगा-3 की कमी होने पर ये लक्षण दिखाई देते हैं।

त्वचा, बाल और नाखूनों में बदलाव- शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी के कारण त्वचा और बाल बेहद रूखे और क्षतिग्रस्त दिखने लगते हैं, साथ ही नाखून भी आसानी से टूट जाते हैं। ओमेगा-3 की कमी से त्वचा पर रैशेज और बालों में डैंड्रफ की समस्या का सामना करना पड़ता है।

दिल से जुड़ी समस्याएं- शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी के कारण दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा काफी बढ़ जाता है। ओमेगा-3 दिल से जुड़ी बीमारियों को दूर रखने और कोलेस्ट्रॉल को कम रखने में मदद करता है। साथ ही यह हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी बीमारियों से भी बचाता है। यह शरीर में एचडीएल यानी अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी बढ़ाता है।

फोकस और एकाग्रता में कमी- जब शरीर में आवश्यक फैटी एसिड का स्तर कम होता है, तो ध्यान केंद्रित करना और चीजों को याद रखना ज्यादा मुश्किल हो जाता है। ओमेगा-3 की कमी से आप काफी चिड़चिड़े भी हो जाते हैं।

जोड़ों का दर्द और अकड़न- ओमेगा-3 आपकी हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा बढ़ाकर हड्डियों की मजबूती में सुधार कर सकता है, जिससे ऑस्टियोपोरोसिस के खतरे को कम किया जा सकता है। शरीर में ओमेगा-3 की कमी से जोड़ों में दर्द और अकड़न की समस्या का सामना करना पड़ता है।

थकान और नींद की समस्या- थकान और नींद संबंधी विकार आमतौर पर तनाव से जुड़े होते हैं। लेकिन यह शरीर में ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी के कारण भी हो सकता है।

इन चीजों में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है

मछली जैसे हेरिंग, सार्डिन, सैल्मन, ट्राउट, समुद्री भोजन जैसे सीप, क्लैम ओमेगा -3 फैटी एसिड से भरपूर होते हैं। लेकिन अगर आप शाकाहारी हैं तो आप चिया सीड्स, अलसी के बीज, अखरोट, सोयाबीन, एवोकाडो और कैनोला ऑयल का सेवन कर सकते हैं। इनमें ओमेगा-3 फैटी एसिड भी पाया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *