December 7, 2023

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह ने दिया इस्तिफा, महिला कोच ने लगाये यौन उत्पीड़न के अरोप

SPORTS MINISTER OF HARYANA SANDEEP SINGH

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह पर छेड़छाड़ और मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाने वाली जूनियर एथलेटिक्स कोच ने आज राज्य के गृह मंत्री अनिल विज से मुलाकात की और कहा कि अगर खेल मंत्री को गिरफ्तार किया जाता है तो ऐसी और भी महिलाएं सामने आएंगी जिनका उत्पीड़न किया गया है. कोच ने आरोप लगाते हुए कहा कि उसने संदीप सिंह को कई बार मना किया, लेकिन उसकी हरकतें जारी रहीं. आखिर कब तक कोई इंसान चुप रहेगा?

संदीप सिंह कौन है?

संदीप सिंह हरियाणा के एक भारतीय पेशेवर फील्ड हॉकी खिलाड़ी और भारतीय राष्ट्रीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान हैं। वह आम तौर पर एक पूर्ण पीठ के रूप में कार्य करता है और टीम के लिए एक पेनल्टी कार्नर विशेषज्ञ होता है। दुनिया में सबसे तेज ड्रैग-फ्लिक में से एक, ड्रैग-फ्लिक में उनकी विशेषज्ञता के लिए उन्हें मीडिया में “फ्लिकर सिंह” करार दिया गया है।

सिंह हरियाणा पुलिस में डीएसपी रैंक के हैं। वह 2019 में भारतीय जनता पार्टी से हरियाणा के कुरुक्षेत्र में पेहोवा निर्वाचन क्षेत्र से विधायक चुने गए हैं। उन्होंने हरियाणा के खेल मंत्री के रूप में कार्य किया और 1 जनवरी 2023 को पद से इस्तीफा दे दिया, जब हरियाणा पुलिस ने उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत का मामला दर्ज किया।

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह के खिलाफ FIR दर्ज, महिला कोच से छेड़छाड़ का आरोप

हरियाणा के खेल मंत्री और पूर्व हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह के खिलाफ महिला कोच की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है. इसके साथ ही डीजीपी ने इस मामले में जांच के लिए एसआईटी का गठन भी कर दिया है. एक महिला आईपीएस समेत तीन सदस्यीय कमेटी इस केस की जांच करेगी.

हरियाणा के खेल मंत्री और पूर्व हॉकी खिलाड़ी संदीप सिंह के खिलाफ महिला कोच की शिकायत पर केस दर्ज किया गया है. चंडीगढ़ के सेक्टर 26 पुलिस स्टेशन में खेल मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है. चंडीगढ़ पुलिस के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की है. पुलिस की ओर से बताया गया है कि संदीप सिंह के खिलाफ 31 दिसंबर को आईपीसी की धारा 354, 3544, 354B, 342, 506 के तहत केस दर्ज किया गया है.

चंडीगढ़ पुलिस की टीम पीड़ित महिला कोच के बयान दर्ज करने उनके पंचकूला स्थित आवास पर पहुंची. इससे पहले महिला कोच ने कई लोगों पर डराने, धमकाने, पैसे लेकर मुंह बन्द करने, चरित्र हनन सहित महिला आयोग की भूमिका पर भी गंभीर आरोप लगाए थे.

DGP ने गठित की कमेटी

हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह और जूनियर महिला कोच विवाद मामले में हरियाणा के DGP ने एसआईटी कर दी है. इसमें आईपीएस ममता सिंह और समर प्रताप सिंह के साथ एचसीपी राजकुमार कौशिक शामिल हैं. डीजीपी की ओर से एसआईटी को निर्देश दिए गए हैं कि वह महिला कोच के आरोपों की बिंदुवार तरीके से चांच करें और जल्द से जल्द इस मामले की जांच पूरी कर रिपोर्ट सौंपी जाए.

लेडी कोच ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

लेडी कोच ने हरियाणा के खेल मंत्री संदीप सिंह पर आरोप लगाया है। कि संदीप सिंह ने उन्हें सरकारी आवास पर बुलाकर यौन उत्पीड़न किया है. यहां तक कहा गया है कि जब मामले की शिकायत मुख्यमंत्री और राज्य के गृह मंत्री को की गई, तो उनकी तरफ से कोई मदद नहीं मिली. इस मामले में विपक्ष खट्टर सरकार पर हमलावर हो गया और मंत्री संदीप सिंह का इस्तीफा मांग रहा है.

लेडी कोच ने क्या बताया है?

हरियाणा के खेल मंत्री और पूर्व ओलंपियन संदीप सिंह को लेकर लेडी कोच ने एक नहीं कई गंभीर आरोप लगाए हैं. लेडी कोच की ओर से कहा गया है कि उनकी तरफ से महिला खिलाड़ियों के साथ छेड़छाड़ की गई है. अपने केस को लेकर पीड़िता ने कहा कि संदीप सिंह ने मुझे इंस्टाग्राम के जरिए कॉन्टैक्ट किया था. वो किसी वैनिश मोड के जरिए बात कर रहे थे जिस वजह से सभी बातें डिलीट हो गईं. अब आरोप ये लग रहा है कि इस बातचीत के बाद संदीप सिंह ने लेडी कोच को अपने सरकारी आवास पर बुलाया था. कुछ डाक्यूमेंट्स के नाम पर आने के लिए कहा गया और फिर वहां पर छेड़छाड़ की गई.

पीड़िता के मुताबिक मंत्री द्वारा उन्हें मनपसंद पोस्टिंग और दूसरी सुविधाओं का लालच दिया गया था. कहा गया था कि अगर बात मानी जाएगी, तो सबकुछ मिलेगा. लेकिन अब क्योंकि लेडी कोच ने मंत्री की कोई भी मांग नहीं मानी, आरोप लग रहा है कि इस वजह से उनका कहीं और ट्रांसफर कर दिया गया और उनकी ट्रेनिंग को भी बंद करवा दिया गया. बड़ी बात ये है कि पीड़िता द्वारा मुख्यमंत्री से लेकर दूसरे मंत्रियों से संपर्क किया गया था, मदद की अपील हुई थी, लेकिन कोई एक्शन नहीं हुआ. इस मामले में विपक्ष राज्य सरकार पर हमलावर है..

संदीप सिंह ने आरोप पर क्या बोला?

वहीं टीम इंडिया के पूर्व कैप्टन संदीप सिंह ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया था. उनकी ओर से बयान जारी करते हुए कहा गया था कि एक जूनियर कोच ने मुझ पर झूठे आरोप लगाए हैं. मेरे खिलाफ साजिश रची जा रही है, मैंने तो उस लेडी कोच से कभी मुलाकात भी नहीं की. उनकी तरफ से जो प्रेस कॉन्फ्रेस की गई, वो भी INLD के दफ्तर से हुई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *